अब बाजार में बिकेंगे भीम कुण्ड उत्पाद , तैयारी जोरों पर !

उमरिया , गजेंद्र द्विवेदी । आत्म निर्भर भारत योजना के तहत जिले किसान , किसान उत्पादन संगठन बनाकर अपने उत्पाद की प्रोसेसिंग करने के बाद बाजार में उतारने की तैयारी करने लगे है। ऐसा करने से जहां बिचौलियो की भूमिका समाप्त हो जाएगी, वहीं किसानों को अपनी उपज का सही मूल्य प्राप्त हो सकेगा।
जिले के बीजापुरी ग्राम निवासी बिहारी सिंह ने बताया कि वे वर्षो से कोदो कुटकी का उत्पादन करते आ रहे है। गांव के अन्य किसान भी कोदो कुटकी का उत्पादन करते है। उन्होंने बताया कि किसानों से कोदो कुटकी खरीदकर व्यापारियों को बेचने का व्यवसाय हम करते थे , जिससे अधिक लाभ नही मिल पाता था। ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी अनिल शर्मा ने जब कोदो कुटकी व्यवसाय की गतिविधि देखी तो उन्होंने सहायक संचालक कृषि पवन कौरव से भेंट कराई। आपने बिहारी सिंह को कृषि उत्पादक संगठन के संबंध में जानकारी दी तथा कृषि उत्पादन संगठन गठित करनें की समझाईश भी दी।
जानकारी मिलने के बाद गांव के किसानों से चर्चा के पश्चात भीम कुण्ड कृषि उत्पादन संगठन का गठन किया गया है, जिसके हम संचालक भी है। इस संगठन में पांच संचालक तथा 300 किसान जुड़े हुए है। कृषि उत्पादन संगठन के पंजीयन की कार्यवाही जारी है। हम किसानों ने कोदो, कुटकी की खरीदी शुरू कर दी है। अभी तक पचास क्विटल कोदो, कुटकी खरीदी कर चुके है। इसकी प्रोसेसिंग करके भीम कुण्ड कोदो, कुटकी उत्पाद के नाम से बाजार मे विक्रय भी कर रहे है। इससे हमारा उत्पाद दो से तीन गुना अधिक दर पर विक्रय हो रहा है।
सहायक संचालक कृषि पवन कौरव ने बताया कि जल्दी ही इस एफपीओ को नावार्ड के माध्यम से इसकी बचत के बराबर शेयर मनी के रूप में अनुदान प्राप्त हो जाएगा। इसके साथ ही इस संगठन को आत्म निर्भर भारत योजना के तहत आगामी तीन वर्षो में हैण्ड होर्डिग सपोर्ट के तहत 1.5 करोड़ रूपये का अनुदान प्राप्त होगा, जिससे कृषि उत्पादक संगठन की गतिविधियों को व्यवस्थित रूप से संचालित कर सकेगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our Visitor

1 1 8 3 8 2
Users Today : 122
Users Yesterday : 592
Users This Month : 3144
Users This Year : 35654
Total Users : 118382