भागवत जीवन जीने की कला सिखाती है : विजय शास्त्री

खण्डवा । श्रीमद भागवत कथा जीवन जीने की कला सिखाती है । कथा का हर एक प्रसंग जीवन जीने की बड़ी व महत्वपूर्ण सीख देता है । धर्म का मार्ग ही सर्व श्रेष्ठ है पाप का नाश होना तय है । ईश्वर कभी में किसी से भेदभाव नही करते राजा हो या रंक उनके लिए सभी समान है । यह कथा सार सुप्रसिद्ध श्री मद भागवत कथा वाचक पंडित विजय शास्त्री ने कही । वे बीते छह दिनों से कथा का संगीतमयी वाचन कर बड़ी संख्या में कथा सुनने वाले श्रद्धालुओं को मंत्र मुग्ध कर रहे थे ।
रामजानकी मंदिर महिला मंडल के तत्वावधान में औदीच्य ब्राह्मण समाज धर्मशाला नागबाबा मंदिर के सामने खड़कपुरा में भागवत कथा चल रही है । इसमें प्रतिदिन बड़ी संख्या में धर्म प्रेमी जनता पहुचकर कथा श्रवण कर पुण्य लाभ ले रही है । सुप्रसिद्ध कथा वाचक पंडित विजय शास्त्री मूल रूप से खण्डवा जिले हरसूद ब्लाक के धारूखेड़ी के निवासी हैं । वे वृन्दावन से कथा वचन के लिए खण्डवा आए हुए हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Our Visitor

1 2 6 7 2 6
Users Today : 9
Users Yesterday : 71
Users This Month : 3497
Users This Year : 3497
Total Users : 126726